अगर आप ट्रैन की यात्रा करने जा रहे हैं तो इस ख़बर को जरूर पढ़े वरना ..

National News

भारतीय रेलवे की हालत किसी से छिपी नहीं है सवारी गाड़ी मानो मालगाड़ी बन जाते हैं सवारी से ज्यादा सामान दिखाई देते हैं जहा किसी वक़्त ट्रैन के डब्बो में पैर रखने तक की जगह नहीं होती वहां कुछ लोग जान जोखिम में डालकर सामन्य से अधिकतर लगेज अपने साथ लेकर सफर करते हैं ऐसे में अब रेल प्रशाषन ने नकेल कसने का मन बना लिया है।

भारतीय रेलवे में हद से ज्यादा भारी सामान लेकर यात्रा करने का आपका सपना अब अधूरा ही रहने वाला है। दरअसल, रिजर्वेशन कोच में अब हद से ज्यादा लगेज लेकर सफर करने वाले यात्रियों पर रेलवे लगाम कसने वाला है। इसके लिए रेलवे देशभर के सभी रेल मंडलों में 8 से 22 जून तक एक अभियान चला रहा है। इस अभियान के तहत ट्रेन में अधिक सामान लेकर सफर करने वाले मुसाफिरों पर विशेष नजर रखी जाएगी।

 

श्रेणीवार रिजर्वेशन कोच की बात करें तो फ़र्स्ट एसी में सामान ले जाने की सीमा 70 किलो है, जबकि अधिकतम छूट 15 किलो है। सेकंड एसी में ये छूट 50 किलो और अधिकतम छूट 10 किलो है। इसके अलावा थर्ड एसी में मुफ्त सीमा 40 किलो ले जाने की है, जबकि अधिकतम छूट 10 किलो है।

 

इसके अलावा स्लीपर में मुफ्त सामान ले जाने की सीमा 40 किलो है और अधिकतम छूट यहां 10 किलो है। वहीं, जनरल क्लास में मुफ्त सामान ले जाने की सीमा 35 किलो और अधिकतम सामान ले जाने की छूट 10 किलो है।

 

एक वरिष्ठ रेलवे अधिकारी ने बताया कि इन सभी श्रेणियों में नि:शुल्क सीमा से अधिक सामान यात्री अगर बुक कराकर ले जाते हैं और यदि गंतव्य पर पहुंचने के बाद जांच में ये पाया गया तो अतिरिक्त सामान पर पार्सल चार्ज का 6 गुना अधिक अथवा न्यूनतम 50 रुपए जुर्माना वसूला जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *